Total Knee Replacement (सम्पूर्ण घुटना प्रत्यारोपण)

सामान्य जोड़

आपके घुटने का जोड़ हिंज संधि या कोर संधि है जिसमें जांघ की हड्डी (ऊर्वस्थि) का निचला सिरा पैर के निचले हिस्से की बड़ी हड्डी (टिबिया) से मिलता है। स्वस्थ जोड़ में चिकनी उपास्थि दोनों हड्डियाँ के सिरों को ढंके रहती है। जब आप अपने घुटने मोड़ते हैं दोनों हड्डियाँ आसानी से फिसलती हैं। जानुसंधि या घुटने के जोड़ के आस-पास की पेशियां और स्नायु आपका वजन संभालते हैं और चलते समय आपके जोड़ के आसानी से गति करने में मदद करते हैं।

घिसी हुई घुटना जोड़

हड्डियाँ के सिरों की चिकनी उपास्थि घिस कर छीज जाती है। उपास्थिति की यह छीजन बढ़ती उम्र, या किसी चोट, गठिया या कुछ दवाइयां के प्रतिकूल प्रभाव का नतीजा हो सकती है। जब हड्डियाँ के सिरे और उपास्थि छीज जाती है तो उनकी सतह रेगमार की तरह खुरदरी हो जाती है। जब आप अपने पैर चलाते हैं हड्डियाँ घिसती हैं और आपको दर्द और जकड़न महसूस होती है।

संपूर्ण घुटना प्रत्यारोपण की आवश्यकता कब पड़ती है।

जब आपको दवाइयां और भौतिकोपचार से दर्द में राहत नहीं मिलती और आपके जोड़ की चाल में सुधार नहीं आता। घुटने के दर्द और उसकी खराब चाल की वजह से आप अपनी सामान्य गतिविधियाँ को अंजाम नहीं दे पाते।

संपूर्ण घुटना प्रत्यारोपण (टोटल नी रिप्लेसमेंट)

इस शल्यक्रिया में घुटना जोड़ (नी ज्वाइंट) का घिसा हुआ या क्षतिग्रस्त हिस्सा बदल दिया जाता है।जोड़ की विकार युक्त सतहें निकाल दी जाती हैं और उनकी जगह कृत्रिम जोड़ लगा दिया जाता है। इस शल्यक्रिया से आपको दर्द से राहत मिल सकती है और आपके घुटने के जोड़ की चाल में सुधार आ जाता है।

शल्यक्रिया के बाद जोड़ का दर्द और चलना-फिरना

अस्पताल के कर्मचारी शल्यक्रिया के दिन ही या उसके अगले दिन आपको सहारा देकर खड़ा करेंगे और वॉकर की मदद से आपको चलायेंगे। उतकों का घाव भरने और पेशियों के मजबूत होने के दौरान आपको कुछ दर्द हो सकता है। कुछ हफ्तों में आपका दर्द बंद हो जायेगा और शल्यक्रिया की वजह से होने वाले दर्द से राहत देने के लिए आपको दर्द की दवाइयां दी जायेंगी। अपने नये जोड़ और भौतिकोपचार के साथ आप उन गतिविधियों का फिर से लुत्फ ले सकेंगे जिनका पहले आनंद उठाते थे ।

Porwal Hospital

Hospital of Excellence

Patient Services

Our Location

Love Garden Road, R.C. Vyas Colony, Bhilwara (Raj.) 311001
+91-982 994 6350
info@porwalhospital.com, porwalhospital@gmail.com